किडनी बेचने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार


जोगबनी (अररिया)  : नेपाल के मोरंग जिले में किडनी बेचने वाले गिरोह के दो सदस्यों को मोरंग पुलिस (नेपाल) ने गिरफ्तार किया है। इस आशय की जानकारी मोरंग की डीएसपी उमा प्रसाद चतुर्वेदी ने देते हुए कहा कि सीमा क्षेत्र में किडनी बेचने वाले गिरोह सक्रिय है। गिरोह के पकड़े गए सदस्यों में एक महिला व एक पुरुष शामिल हैं।
डीएसपी श्री चतुर्वेदी के अनुसार सुपौल जिले के डोरा गांव निवासी दीपक और सरिता इस गिरोह के सदस्य हैं। इनके द्वारा नेपाल से बच्चों को भारत ले जाते हैं और फिर उसे एक डाक्टर के हाथों बेच डालते हैं। गिरफ्तार महिला व पुरुष ने 20 वर्ष पूर्व नेपाली नागरिकता प्राप्त कर ली है। गिरोह के दोनों सदस्य दुहबी स्थित सोनू स्वीट्स में काम करते हैं। गिरफ्तार सदस्यों ने पुलिस को बताया कि एक दिन अपने गांव सुपौल जाने के क्रम में इनकी मुलाकात ललितग्राम स्टेशन पर विनोद यादव नामक व्यक्ति से हुई। इसके बाद से ये दोनों इस अवैध किडनी व्यापार में संलिप्त है। गत दिनों एक लड़की को ले जाते दीपक को टंकी सुनवारी बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया। डीएसपी ने बताया कि पूछताछ में गिरफ्तार दोनों आरोपी ने बताया कि इस कारोबार में एक बच्चे की कीमत 50-60 हजार मिलता है। श्री चतुर्वेदी ने बताया कि सीमा क्षेत्र में बढ़ते इस अपराध को लेकर वे सुपौल व अररिया एसपी से संपर्क कर अनुसंधान को आगे बढ़ाया जायेगा। फिलहाल मोरंग पुलिस गिरफ्तार दोनों व्यक्ति गहन पूछताछ में जुटी है।

Comments